Friday, July 24, 2009

दिवाली से पहले..दिए...!..!

Appliqued lamps or "Diya"s




http://chindichindi-thelightbyalonelypath.blogspot.कॉम

इस ब्लॉग पे अनेक तस्वीरें मौजूद हैं..अनेक बटुए, bags तथा pouches, जिनमे, हर तरह के तोहपे रख के दिए जा सकते हैं...जैसे, किताबें, मिठाई, साडी, या अन्य पेहराव, ज़ेवर, आदि,आदि....आईये..हम सब मिलके कागज़ बचने का प्राण करें...तथा प्लास्टिक का इस्तेमा टालें..ऐसी थैलियाँ.., अपने खाली समय में सालभर हम बना सकते हैं...बल्कि,तोहफे के तौर पे इन bags को भी दिया जा सकता है..!
और सिर्फ़ दिवाली नही..हरेक अवसर के लिए ऐसी थैलियाँ बन सकतीं हैं...शादी-ब्याह के लिए भी...!

घरमे सिलाई न करते हों, तो दर्ज़ी अपना कबाड़ जब फेंक देता है, वहाँ पोहोंच जाएँ......किसीभी दर्ज़ी के पास..हाँ, बादमे आपको छाँटना ज़रूर पड़ेगा..!

2 comments:

नीरज कुमार July 25, 2009 at 6:02 AM  

This is a very beatiful and useful blog...
I know that U would like that we visit all of your blogs but their is a time constraint...But Must say that I visited you first @ Chindi-chindi and loved your creativity so much that became a regular visitor...

Thanks for such beautiful blogs for us...

ज्योति सिंह December 17, 2009 at 4:04 AM  

main kash aapse ye le paati yaa sikh paati aur kya kahoon ,agar meri mitr aapse milne gayi usse jaroor kuchh mangwaaungi ,man lalcha gaya meri kamjori hai kala

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP